ठियोग में युगा की पहली वार्षिक बैठक का आयोजन -प्रशांत सेहटा

भारतीय हिमालय के फल उत्पादकों की संस्था यंग एंड यूनाइटेड ग्रोवर्स एसोसिएशन (युगा) की पहली वार्षिक बैठक का आयोजन जिला शिमला के ठियोग में रविवार को किया गया। यह बैठक ठाकुर सुरेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में की गई। बैठक में सेब बागवानों की समस्याओं पर मंथन किया गया और इनसे निपटने के सुझावों पर विस्तृत चर्चा की गई।

बैठक में शिमला जिले के कोटगढ से संबंध रखने वाले प्रसिद्ध बागवान हरिचंद रोछ ने बतौर मुख्य वक्ता शिरकत की। एप्पल पैकेजिंग और मार्केटिंग के बारे में बात करते हुए रोछ ने कहा कि जब तक टेलीस्कोपिक कार्टन को मॉडिफाई करके बाज़ार में नहीं उतारा जाएगा तब तक बागवानों और सेब खरीददारों को नुकसान होता रहेगा। उन्होंने कहा कि जब तक बागवान संगठित होकर एप्पल पैकिंग के लिए कम वजन वाले कार्टन को नहीं अपनाएंगे तब तक उन्हें बाज़ार में सेब की कम कीमत मिलती रहेगी।

रोछ ने बात जारी रखते हुए कहा कि बागवानों को क्वालिटी और ग्रेड के आधार पर प्रति किलो की दर से रेट मिलने चाहिए। इसके लिए बागवानों को स्वयं संगठित हो कर सरकार व प्रशासन से बातचीत कर मुद्दे को हाल करना होगा। उन्होंने बागवानों को सलाह दी कि बागीचों में पोषण के लिए रसायनों का प्रयोग आवश्यकता अनुसार करना चाहिए। खादों का प्रयोग मिट्टी परीक्षण और पत्तियों के परीक्षण के बाद ही किया जाना चाहिए। मृदा परीक्षण काम से कम तीन वर्षो में एक बार किया जाना चाहिए जबकि पत्तियों का परीक्षण हर साल मध्य जून से जुलाई माह के अंत तक किया जाना चाहिए।

बैठक में मौजूद संस्था के सभी सदस्यों ने हरिचंद रोछ की बात का समर्थन करते हुए टेलीस्कोपिक कार्टन को मॉडिफाई कर प्रयोग में लाने की बात कही। इस कार्य में हरिचंद रोछ ने संस्था की मदद करने का आश्वासन दिया है।

इसके बाद संस्था के अध्यक्ष ठाकुर सुरेन्द्र सिंह की अगुवाई में संस्था ने आगामी वर्ष के लिए अपने मुख्य कार्यों की सूची तैयार की। इस मौके पर मनीष भालूणी (मोनू) को रामपुर और रणदीप सेहटा (सोनू) को जुब्बल का कार्यकारी सदस्य बनाया गया।

गौरतलब है कि बीते साल 15 अक्टूबर को रविवार के ही दिन इस संस्था की नींव रखी गई थी। तब इस संस्था में सदस्यों की संख्या केवल 27 थी जोकि आज बढ़कर 75 पहुंच गई हैं। संस्था का मुख्य उद्देश्य हिमालय क्षेत्र में सेब व अन्य फलों की आधुनिक बागवानी को प्रोत्साहित कर स्वरोजगार के अवसर सुनिश्चित करना है। इसके अलावा संस्था समय समय पर अलग अलग जगहों पर बागवानी से जुड़े विभिन्न विषयों पर कैंप्स और वर्कशॉप्स का आयोजन करती रहती है ताकि आधुनिक बागवानी से जुड़ी जानकारियों के प्रसार के चलते अधिक से अधिक बागवान लाभान्वित हो सके।

युगा की पहली वर्षगांठ के मौके पर संस्था का वेब पोर्टल और यूट्यूब चैनल भी लॉन्च किया गया। बागवान  www.yugahortipost.com पर विजिट कर सकते है। इस बैठक में संस्था के उपाध्यक्ष कमलेंद्र परिहार, संयुक्त सचिव अनीश अम्रैक, वित्त सचिव कृष जानार्था सहित संस्था के करीब सत्तर सदस्यों ने भाग लिया।