सेब बागवानों ने सीखे प्रूनिंग के गुर

द युगा हॉर्टिकल्चर पोस्ट, शिमला।

 

यंग एंड यूनाइटेड ग्रोवर्स एसोसिएशन (युगा) ने मंगलवार को मशोबरा स्थित बागवानी अनुसंधान केंद्र में एक दिवसीय प्रूनिंग कैंप का आयोजन किया। कैंप का मुख्य उद्देश्य बागवानों को सेब के पौधों की उचित कांट छांट और विभिन्न ट्रेनिंग और प्रूनिंग सिस्टम्स की जानकारी देना था। सेमिनार में डॉ. नीना चौहान ने इस विषय के बारे में बागवानों को जानकारी दी।

 

डॉ नीना चौहान ने बागवानों को प्रूनिंग के टिप्स देते हुए कहा कि सही ढंग से प्रूनिंग किए हुए पौधों में उच्च गुणवत्ता युक्त फसल तैयार होती है। ऐसे में सूरज की रोशनी पौधे के भीतरी भाग तक पहुंचती है जिसकी वजह से फलों में बेहतर रंग आता है और मानसून के दौरान फफूंद जनित रोगों से बचाव में भी मदद मिलती है। उन्होंने बागवानों को हाई डेंसिटी एप्पल ऑर्चर्ड के विभिन्न ट्रेनिंग और प्रूनिंग सिस्टम्स के बारे में भी अवगत करवाया।

युगा के अध्यक्ष ठाकुर सुरेन्द्र सिंह ने प्रशिक्षण शिविर के सफल आयोजन के लिए संस्थान के एसोसिएट डायरेक्टर डॉ पंकज गुप्ता और डॉ नीना चौहान का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि “इस शिविर में बागवानों को पौधों की कांट छांट के टिप्स दिए गए। संस्थान के सहयोग से युगा द्वारा भविष्य में भी इस तरह के प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जाएगा।”

इस प्रशिक्षण शिविर में युगा के महासचिव प्रशांत सेहटा और एग्जीक्यूटिव बॉडी के चेयरमैन राजीव चौहान सहित प्रदेश के 50 से अधिक बागवान मौजूद रहे।